essay

समय का महत्व पर निबंध – Value Of Time Essay In Hindi

समय का महत्व पर निबंध – Value Of Time Essay In Hindi : अगर किसी व्यक्ति से पूंछा जाए कि संसार की सबसे कीमती वस्तु क्या होती है? तो अधिकतर लोगों का जवाब होगा, सोना-चांदी, हीरा इत्यादि लेकिन बहुत कम व्यक्ति ऐसे मिलेंगे जिनका जवाब होगा कि समय सबसे ज्यादा कीमती है, और यह बात शत् प्रतिशत सत्य भी है, कि समय बेशकीमती है। समय धन से ज्यादा कीमती है क्योंकि यदि धन एक बार खर्च कर दिया जाए तो वह दोबारा प्राप्त किया जा सकता है परन्तु एक बार जो समय बीत जाता है, वह दोबारा कभी भी नहीं आता, फिर चाहे उसके लिए हम कितना ही पैसा क्यों न खर्च कर लें परन्तु समय को धन से नहीं खरीदा जा सकता है। समय एक सीमित धन है जो आपके न चाहने के बाद भी खर्च होना ही है।

समय के बारे में एक कहावत भी प्रचलित है कि –

“समय और ज्वार भाटा किसी की प्रतीक्षा नहीं करते।”

इस कहावत का अर्थ है कि समय किसी का भी इंतजार नहीं करता है। यह हमेशा आगे की ओर सीधी दिशा में चलता है न कि पीछे की ओर, इसलिए सभी को हमेशा समय के साथ चलना चाहिए।

हर व्यक्ति को सकारात्मक ढंग से सही तरीके से समय का उपयोग करना चाहिए। समय सभी के लिये बिल्कुल निःशुल्क है। परन्तु समय ही मात्र वह ऐसी वस्तु है, जो सभी को अपने चारों ओर नचाता है। अपने जीवन में कोई भी व्यक्ति न तो समय को हरा सकता है, न इससे जीत सकता है। तभी तो इस संसार में समय को सबसे ताकतवर वस्तु कहा गया है, क्योंकि वह समय ही है जो किसी को भी नष्ट कर सकता है और किसी को भी बना सकता है।

इस संसार में कोई भी व्यक्ति समय की क्षमता को मापने में सक्षम नहीं है, क्योंकि कभी तो जीतने के लिए एक पल ही काफी होता है और कभी कभार जीतने के लिए पूरा जीवन लग सकता है। कोई भी व्यक्ति एक पल में अमीर बन जाता है और कोई एक पल में गरीब बन जाता है। जीवन और मृत्यु के बीच भी केवल एक पल मात्र का ही अन्तर होता है।

इसलिए हम सभी को जीवन के किसी भी दौर में कभी भी अपने बहुमूल्य समय को बिना किसी उद्देश्य और अर्थ के व्यर्थ जाया नहीं करना चाहिए। हम सभी को हमेशा समय के अर्थ को समझना चाहिए। समय से हमें हर पल नियमितता, निरंतरता और प्रतिबद्धता सीखते रहना चाहिए। यह बिना किसी अवरोध के निरंतर चलता रहता है, तो फिर हम ऐसा क्यों नहीं कर सकते? हर व्यक्ति को जीवन में वास्तविक रूप से सफलता प्राप्त करने के लिए समय के साथ कदम से कदम मिलाकर चलने की कोशिश करनी चाहिए। समय के बारे में सत्य ही कहा गया है –

“यदि हम समय को बर्बाद करेंगे तो समय हमें और हमारे जीवन को बर्बाद कर देगा।”

अर्थात् जो समय को बर्बाद करता है, उसे निश्चित रूप से ही समय के द्वारा नष्ट कर दिया जाता है। और जो व्यक्ति समय का सदुपयोग करता है, वह निश्चित रूप से ही समय के द्वारा आर्शीवाद प्राप्त कर लेता है। उदहारण के रुप में – यदि हम समय पर भोजन ग्रहण नहीं करेंगे या समय पर अपनी दवाइयां नहीं लेंगे तो निश्चित रूप से समय हमारे स्वास्थ्य को नष्ट कर सकता है।

बहुत से लोग अपना जीवन बेहद ही अर्थहीन ढंग से जी रहे हैं। वे समय का उपयोग केवल अपने मित्रों के साथ खाने, घूमने-फिरने या अन्य आलसी क्रियाओं को करने में करते हैं। इस तरह वह अपने दिन, माह, वर्ष और जीवन व्यतीत कर रहे हैं। वह कभी भी यह सोच ही नहीं पाते कि वे किस तरह से अपना जीवन व्यर्थ कर रहे हैं। यहां तक कि उन्हें गलत तरीके से अपने समय को व्यर्थ करने का पश्चाताप भी नहीं होता है। अप्रत्यक्ष रूप से वे अपना बहुत सा धन और उससे भी अधिक महत्वपूर्ण समय खो देते हैं, जिसे वे कभी भी जीवन में दोबारा प्राप्त नहीं कर पाते हैं।

समय प्रकृति की अनूठी संपत्ति को दर्शाता है कि, “परिवर्तन ही प्रकृति का नियम है।” इस संसार में प्रत्येक चीज समय के अनुसार चलती है, क्योंकि समय से कुछ भी स्वतंत्र नहीं है। लोग सोचते हैं कि जीवन कितना बड़ा है परन्तु सत्य बात तो यह है कि जीवन बहुत ही छोटा है और हमारे पास जीवन में करने के लिए बहुत सी चीजें हैं। तो हमें अपने जीवन का प्रत्येक क्षण सही अर्थपूर्ण ढंग से उपयोग में लाना चाहिए।

समय के मूल्य. को पहचानते हुए सन्त कबीर ने मृत्यु को अवश्यम्भावी बताकर जीवन के एक एक क्षण का सदुपयोग करने की सीख देते हुए कहा है –

“काल करै सो आज कर , आज करै सो अब ।
पल में परलय होएगी , बहुरि करैगा कब ।।”

परीक्षा में तो अभी काफी समय शेष है, कल से पढ़ना शुरू कर देंगे, ऐसा सोचकर कुछ विद्यार्थी कभी पढ़ते ही नहीं है, किन्तु परीक्षा तो नियत समय एवं तिथि पर ही होती है।
इसलिए कहावत कही गयी है कि –

“अब पछताए होत क्या , जब चिडिय़ा चुग गई खेत ।”

सुप्रसिद्ध लेखक मेसन ने समय को महिमामंडित करते हुए कहा है कि – “स्वर्ण के प्रत्येक कण की तरह ही समय का प्रत्येक क्षण मूल्यवान है।”

अंग्रेजी में एक कहावत भी कही गई है कि –

“Time and Tide waits for None”

अर्थात् समय और समुद्र की लहरें किसी की प्रतीक्षा नहीं करते।
समय के महत्व को समझाने के लिए प्रकृति में भी बहुत से उदहारण भरे पड़े हैं। कवि तुलसीदास जी ने एक उदहारण का उल्लेख करते हुए समय के महत्व के बारे में कुछ इस प्रकार लिखा है कि –

“ का बरखा जब कृषि सुखाने।
समय चूकि पुनि का पछताने।।”

अर्थात् कभी कभी वर्षा के मौसम में वर्षा इतनी देर से शुरू होती है कि खेतों में लगी फसलें सूख जाती हैं। ऐसे में भला वर्षा होने का भी क्या लाभ?
अतः जीवन में प्रत्येक कार्य के लिए नियत समय निर्धारित होता है। समय के सदुपयोग में ही जीवन की सफलता का रहस्य निहित है। राजा हो या रंक, मूर्ख हो या विद्वान, समय किसी के लिए अपनी गति धीमी नहीं करता। इसलिए सभी को जीवन में समय के सदुपयोग, महत्व को समझना चाहिए।

what is importance of time in life in hindi.

समय का महत्व पर निबंध – Value Of Time Essay In Hindi , Samay ka Mahatva par Nibandh