biography

पृथ्वी शॉ (क्रिकेटर) का जीवन परिचय | Prithvi Shaw Biography in Hindi

Prithvi Shaw Biography in Hindi : देखा जाए तो कई लोग एक अच्छा क्रिकेटर बनने का सपना देखते हैं, लेकिन उनमें से कुछ गिने चुने लोग ही अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन करके अपनी मेहनत और किस्मत के दम पर क्रिकेट के क्षेत्र में आगे बढ़कर एक नई पहचान बनाने में कामयाब हो जाते हैं। वहीं कुछ खिलाड़ी इस मुकाम तक पहुंचने में असफल रह जाते हैं। भारत में प्रतिवर्ष न जाने कितने बच्चे भारतीय क्रिकेट टीम में अपनी पहचान बनाने के लिए मेहनत करते हैं। लेकिन कुछ ही बच्चे सफल हो पाते हैं।

वहीं आज हम आपको ऐसे ही एक नए खिलाड़ी के जीवन के बारे में बताने जा रहे हैं जिसने अपनी मेहनत के दम पर ही महज 14 साल की उम्र में क्रिकेट की दुनिया में अपना नाम रोशन किया है। इस महान खिलाड़ी का नाम पृथ्वी शॉ है, जिसने भारतीय क्रिकेट टीम के लिए खेलते हुए अपने पहले ही टेस्ट मैच में शानदार शतक लगा कर न सिर्फ भारतीय क्रिकेट टीम में अपनी जगह बना ली है बल्कि क्रिकेट के जगत में अपनी प्रतिभा का लोहा भी मनवाया। इतना ही नहीं पृथ्वी शॉ डेब्यू टेस्ट में सबसे कम उम्र में शतक लगाने वाले पहले भारतीय बल्लेबाज भी बन गए हैं। इसके साथ ही उन्होंने अपना नाम रिर्काड बुक्स में भी दर्ज करा लिया है। साथ ही साथ वह सचिन तेंदुलकर के बाद टेस्ट क्रिकेट में भारत के लिए शतक बनाने वाले दूसरे बल्लेबाज भी हैं। लेकिन टीम इंडिया का स्टार माने जा रहे पृथ्वी शॉ ने इस मामले में सचिन तेंदुलकर को भी पीछे छोड़ दिया है।

पृथ्वी शॉ का जीवन परिचय

पृथ्वी शॉ जन्म एवं परिचय (Birth and Introduction)

वास्तविक नाम : पृथ्वी पंकज शॉ
व्यवसाय : क्रिकेटर
जन्मतिथि : 9 नवंबर 1999
जन्मस्थान: ठाणे, महाराष्ट्र, भारत
निवासस्थान : विरार, महाराष्ट्र, भारत
पिता: पंकज शॉ
स्कूल: ए.वी.एस, विद्या मंदिर, विरार मुंबई
रिजवी स्प्रिंगफील्ड हाईस्कूल मुंबई
विश्व विद्यालय : रिजवी कॉलेज ऑफ आटर्स, साइंस और कॉमर्स मुंबई
शैक्षिक योग्यता : स्नातक
धर्म : हिन्दू
राष्ट्रीयता: भारतीय
कोच / संरक्षक: राहुल द्रविड़
लम्बाई : 5,5 (लगभग)
वजन: 55 किलोग्राम

पसंदीदा चीजें

पसंदीदा क्रिकेटर : सचिन तेंदुलकर
पसंदीदा क्रिकेट ग्रांउड : ओवल (ऑस्ट्रेलिया), एडिलेड (ऑस्ट्रेलिया)
पसंदीदा व्यंजन : अंडा घोटाला
पसंदीदा अभिनेता : आमिर खान, जॉनी डेप, जूनियर रॉबर्ट डाउनी
पसंदीदा अभिनेत्री: ऐश्वर्या राय, करीना कपूर, पेनेलोप क्रूज
पसंदीदा टीवी शो: तारक मेहता का उल्टा चश्मा

पृथ्वी शॉ का शुरुआती जीवन

क्रिकेट की दुनिया में उभरते हुए इस युवा क्रिकेटर पृथ्वी शॉ का जन्म 9 नवंबर 1999 को महाराष्ट्र, ठाणे के एक मिडिल क्लास परिवार में हुआ था। उनके पिता पंकज शॉ एक कपड़े के व्यापारी थे। इसके साथ ही वह एक बड़े क्रिकेट प्रेमी भी थे। वे हमेशा से ही अपने बेटे को क्रिकेटर बनाना चाहते थे, या यूं कहें कि पृथ्वी शॉ अपने पिता के कारण ही आज इस मुकाम पर पहुंचे हैं।

पृथ्वी के परिवार में सब कुछ ठीक चल रहा था कि पृथ्वी जब 4 साल के थे तभी उनकी मां की मृत्यु हो गयी, जिससे पृथ्वी शॉ के परिवार पर दुःखों का पहाड़ टूट पड़ा और पृथ्वी को मां की मृत्यु से गहरा सदमा पहुंचा पर पृथ्वी के पिता ने इस घटना के बाद भी विषम परिस्थितियों में हिम्मत नहीं हारी और वे पृथ्वी की परवरिश में एक मां और पिता दोनों के दायित्व को बखूबी निभाने लगे।

इसके साथ ही उन्होंने कभी बेटे को क्रिकेटर बनाने का सपना देखना नहीं छोड़ा बल्कि उसे पूरा करने के लिए बचपन से ही वह पृथ्वी के लिए क्रिकेट कोचिंग का इंतजाम करते रहे। उन्होंने महज 5 साल की उम्र में ही पृथ्वी का दाखिला विराट क्रिकेट एकेडमी में करा दिया।

पृथ्वी शॉ आज क्रिकेट की दुनिया में सबसे बड़े सितारे बनकर चमके हैं तो इसके पीछे सबसे बड़ा रोल उनके पिता का ही है। पृथ्वी के करियर के लिए पिता पंकज शॉ ने काफी त्याग और बलिदान किया, यहां तक कि उन्होंने बेटे को क्रिकेटर बनाने के लिए अपने कारोबार को बन्द कर दिया। पृथ्वी के पिता पहले थोक विक्रेताओं से कपड़े खरीदकर उन्हें सूरत और बड़ौदा में जाकर बेचते थे। पर फिर वह अपना व्यापार छोड़कर मुंबई चले गए। वैसे तो पृथ्वी शॉ का परिवार असल में बिहार के गया का रहने वाला था। पर अब वह मुंबई में रहते हैं।

पृथ्वी शॉ की शिक्षा

पृथ्वी शॉ ने क्रिकेट को ही अपने जीवन का लक्ष्य बना रखा था, लेकिन इसके बावजूद भी उन्होंने अपनी पढ़ाई के साथ कोई समझौता नहीं किया। उन्होंने ए.वी.एस विद्या मंदिर और रिजवी स्प्रिंगफील्ड हाईस्कूल से अपनी शुरुआती पढ़ाई पूरी की। अभी भी वह रिजवी कॉलेज ऑफ आटर्स, साइंस एंड कॉमर्स से अपनी पढ़ाई पूरी कर रहे हैं।

पृथ्वी शॉ के क्रिकेट करियर की शुरुआत

बेहतरीन प्रदर्शन से क्रिकेट के जगत में अपनी प्रतिभा का लोहा मनवाने वाले सबसे कम उम्र के भारतीय क्रिकेट टीम के स्टार पृथ्वी शॉ ने अपने क्रिकेट करियर की शुरुआत मुंबई के सहारा परिसर बीरां से की थी। मुंबई की टीम से खेलते हुए उन्होंने अपने शानदार प्रदर्शन से बीरां टूर्नामेंट में जीत हासिल की थी। रिजवी स्प्रिंगफील्ड में पढ़ाई के दौरान ही उन्हें रिजवी स्प्रिंगफील्ड टीम में कप्तान के रुप में शामिल किया गया, जिसके लिए वे 2012 से 2013 तक खेले और पहली बार फाइनल मैच में 174 रन बनाए, जिसने उन्हें सुर्खियों में ला दिया।
इसके बाद पृथ्वी शॉ मुंबई स्थित MIG Cricket Club के लिए खेलने लगे जहाँ उनके कोच राजीव पाठक थे। अप्रैल 2012 में पृथ्वी शॉ को इंग्लैण्ड में स्थित Cheadle Hulme School के लिए खेलने का मौका मिला जहां उन्होंने 1446 रन बनाए और पहले ही मैच में शतक मारा और पूरे सीजन में 68 विकेट लिए।

2013 में ऑक्सफोर्डशायर में Cryptics के लिए खेलते हुए Middleton stoney cricket club के खिलाफ 10 ओवर में 68 रन बनाए।

1 जनवरी 2017 को First class match में डेब्यू करने का मौका मिला जहां मुंबई के लिए खेलते हुए तमिलनाडु के खिलाफ रणजी सेमीफाइनल में 120 रन की शानदार पारी खेली और फाइनल में शतक लगाया। शॉ ने लिस्ट के लिए गुजरात के खिलाफ 25 फरवरी 2017 को डेब्यू किया । 2017 के अन्त में उन्हें under-19 world cup के लिए Indian under-19 team में शामिल कर कप्तान बनाया गया।

आईपीएल के 11वें संस्करण के लिए 27 जनवरी 2018 को हुए आईपीएल ऑक्शन में दिल्ली डेयरडेविल्स ने 1.2 करोड़ में पृथ्वी शॉ को खरीद लिया। जबकि उनकी प्राइस मात्र 20 लाख थी।

पृथ्वी शॉ (क्रिकेटर) का जीवन परिचय | Prithvi Shaw Biography in Hindi, Prithvi Shaw education, पृथ्वी शॉ की शिक्षा, पृथ्वी शॉ के क्रिकेट करियर की शुरुआत