motivational

सफलता आपके हाथ में !

दोस्तों सफलता किसे नहीं चाहिए , नौकरी हो या ब्यापार, पढ़ाई हो या interview हर कोई चाहता है कि जो भी काम करें उसे उसमें सफलता प्राप्त हो। सफलता पाने के लिए सबसे ज्यादा जरूरी मेहनत है। जिसके लिए वह हद से ज्यादा मेहनत भी करता है, लेकिन चाहकर भी उसके अनुसार उसे सफलता प्राप्त नहीं होती है। कहा जाता है कि किस्मत भी सफलता में अहम स्थान रखती है। but मेरा मानना है की अगर पूरी लगन और मेहनत के साथ हम कुछ चीजों पर ध्यान दें तो हो सकता है कि किस्मत भी हमारे साथ हो जाए।

हालाँकि लोगों के सफलता का मापदंड अलग अलग होता है. कोई पैसा चाहता है तो कोई शोहरत, कोई अच्छा family life जीना चाहता है तो कोई ऐशोआराम. इसमें कुछ लोग सफल हो भी जाते हैं और कुछ नहीं.
आपने कभी ऐसा गंभीरता से सोचा, कि जो व्यक्ति सफल हो जाते है वो तो आगे निकल जाते है परन्तु और बाकि साधारण से बन कर क्यों रह जाते है ? इस रहस्यमय कारण को जिस व्यक्ति ने जाना, उसने इस दुनिया में अपना परचम लहरा दिया और हर बुलंदी को छू लिया !

हम सब जानते है कि मानव-जीवन प्रकृति कि श्रेष्ठम रचना है और आपमें इतनी ऊर्जा है कि आप चाहे तो विश्व को नष्ट कर सकते है .. और इसे फिर से बना सकते है !

ईश्वर ने बरदान के रूप में इतनी शक्तिया दी है , जो ब्रह्माण्ड में किसी दूसरे प्राणी के पास नहीं है ! सफलता कि सर्वमान्य परिभाषा अभी तक नियत नहीं कि जा सकीय है ! इसका कारण यह है कि अलग-अलग व्यक्तिओ के लिए सफलता का भिन्न-भिन्न अर्थ है ! कोई व्यक्ति यश और प्रतिष्ठा पाकर समाज में सफल होने का गर्व महसूस करता है , तो किसी कि बिद्या और बुद्धि सफल होने का मूल्याङ्कन है ! किसी अन्य के लिए पद का इतना महत्व है कि वह इसे जीवन कि अंतिम सफलता मान लेता है! ेक्षाओ कि कोई सिमा नहीं है ! कुछ लोग उपलब्धि या सफलता अपने आप को धनवान बनने में मानते है!
कार्यक्षेत्र जो भी हो , लेकिन सफलता प्राप्त करने के लिए वसूल या नियम एक है , जो सभी पर लागु होता है ! जिस प्रकार प्रकृति का नियम नहीं बदलता , उसी प्रकार सफलता प्राप्त करने के जो तरीके है, वे नहीं बदल सकते ! सिर्फ उन्ही पर अमल करने कि जरूरत है ! प्रकृति के नियम के अनुसार , जो चलेगा वो सुखी और सफल अवश्य होगा ! यह जानना जरूरी है कि सफल होने के नियम और उपाय क्या है ?

सफलता के लिए कुछ प्रमुख बाते :-

अपने लक्ष्य की एक योजना बनाये
यात्रा शुरू करने से पहले यह निश्चित कर ले , की आप कहा जाना चाहते है क्यूंकि कोई भी लक्ष्य बिना Planning के पूरा नहीं हो सकता. अगर आपके Goals की कोई भी प्लानिंग नहीं होगी तो यह निश्चित है की आप Future में अपने लक्ष्य से भटक जायेंगे और आपका Main Target अधूरा रह जायेगा.

हमेशा बड़ा सोचो :
ज्यादातर लोग अपना goal बहुत ही छोटा set करते हैं और उसे प्राप्त कर खुश हो जाते हैं जबकि कुछ लोग बहुत बड़ा goal पाने की कोशिश तो करते हैं लेकिन हासिल नहीं कर पाते. जैसा सोचोगे वैसा पाओगे| छोटी सोच होगी तो छोटा मिलेगा, बड़ी सोच होगी तो बड़ा मिलेगा| इसलिए जीवन में हमेशा बड़ा सोचो| छोटी सोच में भी उतनी ही उर्जा और समय खपत होगी जितनी बड़ी सोच में,
हिटलर ने कहा था – “हम जो सोचते है, वही बन जाते है ” इसलिए जब सोचना ही है तो हमेशा बड़ा ही सोचो|

किसी दुसरो पर depende न रहे

असफलता से मत डरो :

अपनी ईमानदारी के साथ समझौता न करे

हमेशा जीत के लिए सोचे , हार के लिए नहीं

हमेशा दुसरो की गलतियों से सींखे

नकरात्मक सोच वाले व्यक्ति से हमेशा दुरी बनाये रखे

नकरात्मक सोच वाले व्यक्ति से हमेशा दुरी बनाये रखे

यह बात अच्छी तरह समझ ले , जिंदगी में कुछ भी free में नहीं मिलता

दोस्तों सफलता और असफलता तो जीवन का एक अंग है इसलिए असफल होने के डर से कभी घबराना नहीं चाहिए और सफलता हासिल हो तो मन में घमंड नहीं होना चाहिए ! क्युकी इंसान के मन में जब घमंड आ जाता है , तो उसे निचले पायदान पर आने में देर नहीं लगती !

यह कुदरत कि ब्यवस्था है , कोई भी परिस्थिति एक जैसे कभी नहीं रहती ! अगर किसी समय किसी के लिए अनुकूल परिस्थिति है , वह भी बदलती है या कभी प्रतिकूल है , वह भी बदल जाती है ! जब परवर्तन ही कुदरत कि आत्मा है , उसका नियम है, तो अनुकूलता पर घमंड कैसा और प्रतिकूलता पर गिला-सिकवा क्यों? सब कुछ बदल जाता है , परन्तु परिवर्तन का नियम नहीं बदलता ! यही वास्तविकता है , और यही सत्य है ! आगे सोचना और करना आपको है ! अब सफलता आपके हाथ में है !

1 Comment