biography

ऋषभ पंत का जीवन परिचय | Rishabh Pant biography in hindi

आज हम आपको बताने जा रहे हैं भारतीय क्रिकेट टीम के नए चमकते सितारे ऋषभ पंत के जीवन बारे में। अभी हाल ही में ऋषभ पंत को ICC इमर्जिंग प्लेयर ऑफ द ईयर अवॉर्ड से भी नवाजा गया। ऋषभ पंत क्रिकेट की दुनिया में अब एक जाना पहचाना नाम बन चुके हैं। आईपीएल में शानदार प्रदर्शन के बाद उन्होंने भारतीय टीम में एंट्री मारी और उसके बाद कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा। हाल ही में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ शानदार बैटिंग प्रदर्शन करते हुए उन्होंने टेस्ट क्रिकेट में तो अपनी जगह पक्की कर ही ली है। वनडे और T20 में भी ऋषभ पंत भारत के लिए शानदार ऑप्शन बन चुके हैं। कुछ लोग तो उनकी भारतीय टीम के महान कप्तान महेंद्र सिंह धोनी से भी तुलना करने लगे हैं। अपनी शानदार बैटिंग से सब का मन मोहने वाले ऋषभ पंत टेस्ट क्रिकेट में भी काफी ताबड़तोड़ बल्लेबाजी करते हैं। आने वाले वर्ल्ड कप के लिए भारतीय टीम में चयन होने के लिए ऋषभ पंत एक बड़े दावेदार है। आइए जानते हैं ऋषभ पंत के बारे में कुछ और बातें।

शुरुआती जीवन (Early life)

ऋषभ पंत का पूरा नाम ऋषभ राजेंद्र पंत है। ऋषभ पंत का जन्म रुड़की,उत्तराखंड में हुआ था। ऋषभ पंत अपने माता-पिता सरोज पंत और राजेंद्र पंत के बेहद दुलारे बेटे है। ऋषभ पंत को बचपन से ही क्रिकेट का बहुत शौक था लेकिन उचित व्यवस्था ना होने के कारण उनको एक शहर से दूसरे शहर भटकना पड़ा।

बेहतर संभावनाओं के लिए ऋषभ के माता पिता उनको 12 साल की उम्र में दिल्ली ले आए। दिल्ली आकर ऋषभ पंत को तारक सिन्हा के रूप में एक बेहतरीन कुछ मिला जिन्होंने शिखर धवन को कोचिंग दी थी। खेल के प्रति अपनी लगन से उन्होंने 18 साल की उम्र में फर्स्ट क्लास क्रिकेट में डेब्यू किया और अपने डेब्यू मैच में शानदार अर्धशतक लगाया।

अंडर-19 क्रिकेट करियर (Under-19 Career)

ऋषभ पंत उस समय अंडर-19 क्रिकेट टीम के सबसे शानदार और उभरते हुए खिलाड़ी थे। अंडर-19 वर्ल्ड कप में ऋषभ पंत की लगातार तीन अर्थ शतकीय पारी और नेपाल के खिलाफ खेली गई मात्र 24 गेंदों में 78 रन की पारी ने भारतीय टीम को फाइनल तक पहुंचा दिया। हालांकि भारत की अंडर-19 टीम फाइनल जीतने में सफल नहीं रही लेकिन ऋषभ पंत का नाम बेहद तेजी से ऊपर आया।

आईपीएल करियर (IPL Career)

ऋषभ पंत की इस शानदार फॉर्म को देखते हुए 2016 में दिल्ली डेयरडेविल्स का उनको लगभग 2 करोड रुपए में अपनी टीम में शामिल किया। ऋषभ पंत ने टीम को निराश नहीं किया और 10 मैचों में 298 रन बनाए और कई मैन ऑफ द मैच खिताबी जीते।

लेकिन उनके लिए 2017 और 2018 का आईपीएल और भी ज्यादा शानदार रहा। 2018 आईपीएल में ऋषभ पंत ने काफी रन बनाए और सबसे ज्यादा रन बनाने वालों की सूची में टॉप पांच बल्लेबाजों में रहे।
2018 आईपीएल के एक मैच में उन्होंने मात्र 63 गेंदों में 128 रन की पारी खेली। इस मैच के बाद से उनकी अलग ही पहचान बन गई और वह बेहद ताबड़तोड़ बल्लेबाजों की सूची में जाने जाने लगे। यह किसी भी भारतीय बल्लेबाज का T20 क्रिकेट में सबसे अधिक व्यक्तिगत स्कोर था। ऋषभ पंत आईपीएल के दौरान ही कुछ अजीबोगरीब शॉट खेलते नजर आए जिसने उनको और भी ज्यादा खतरनाक बना दिया।

आईपीएल के दौरान दर्दनाक हादसा (AStroke during IPL)

ऋषभ पंत 2017 और 2018 के आईपीएल में अपने सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन पर थे। सब कुछ सही चल रहा था लेकिन इसी बीच कार्डिक अटैक से उनके पिता की मृत्यु हो गई। ऋषभ पंत इमोशनली बहुत ही मजबूत खिलाड़ी हैं। सब परंपरा पूरी करने के बाद उन्होंने अपने पिता के लिए कुछ करने की ठानी और अगले ही दिन आईपीएल के 1 मैच में मात्र 33 गेंदों में अर्धशतकीय पारी खेली। यह दिखाता है उनका अपने खेल के प्रति जज्बा। इसके बाद वह कभी रुके नहीं और आईपीएल में बेहद शानदार प्रदर्शन करने पर उन्हें 2018 में ‘आईपीएल इमर्जिंग प्लेयर’ के खिताब से भी नवाजा गया।

भारतीय क्रिकेट टीम में चयन (Selection in National Team)

अंडर-19 वर्ल्ड कप और आईपीएल में शानदार प्रदर्शन के बाद ऋषभ पंत को उनकी मेहनत का फल मिला और 2017 में इंग्लैंड के खिलाफ एक टी-20 मैच में उन्होंने अपना डेब्यू किया। उनके शानदार खेल की बदौलत अक्टूबर 2018 में उन्होंने वेस्टइंडीज के खिलाफ अपना वनडे और टेस्ट डेब्यु भी किया।
अभी हाल ही में ऋषभ पंत ने इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट क्रिकेट में अपनी शानदार बल्लेबाजी दिखाई। एक बार वह नर्वस 90s में आउट हुए और उन्होंने एक शानदार शतकीय पारी भी खेली। इसी के साथ उन्होंने इंग्लैंड के खिलाफ छक्के से खाता खोला और एक नया रिकॉर्ड अपने नाम किया।

शानदार विकेटकीपर (Brilliant wicketkeeping)

बल्लेबाजी के अलावा ऋषभ पंत ने शानदार विकेटकीपिंग प्रदर्शन भी किया। एक मैच में सबसे ज्यादा डिस्मिसल के रिकॉर्ड को भी उन्होंने अपने नाम किया। तो ऋषभ पंत ना सिर्फ एक अच्छे बल्लेबाज है बल्कि एक बेहतरीन विकेटकीपर भी है। हालांकि यह कहना काफी जल्दबाजी होगी लेकिन अभी से ही कुछ लोग उनकी तुलना महान विकेटकीपर बल्लेबाज महेंद्र सिंह धोनी से करने लग गए हैं। लेकिन ऋषभ पंत महेंद्र सिंह धोनी के नक्शे कदम पर चलते नजर आ रहे हैं। लेकिन महेंद्र सिंह धोनी की विकेटकीपिंग में बराबरी करने के लिए अभी उनको बहुत मेहनत करनी पड़ेगी।

ऋषभ पंत के बारे में कुछ रोचक तथ्य (Some interesting facts abou Pant)

    ऋषभ पंत ऑस्ट्रेलियाई विकेटकीपर एडम गिलक्रिस्ट के बहुत ही बड़े फैन थे उन्हीं की बदौलत उन्होंने विकेटकीपर बैट्समैन बनने की ठानी।

    रणजी ट्रॉफी में तिहरा शतक लगाने वाले ऋषभ पंत मात्र दूसरे बल्लेबाज है।

    इसी के साथ रणजी ट्रॉफी में सबसे तेज शतक लगाने के मामले में ऋषभ पंत सबसे ऊपर है। 2016 में ऋषभ पंत ने रणजी ट्रॉफी मैच में मात्र 48 गेंदों में शतक लगा दिया था।

    जब ऋषभ पंत इंडिया ए टीम में थे तब राहुल द्रविड़ ने उनके कैरियर को संभालने में बेहद अहम भूमिका निभाई।

तो ऋषभ पंत इस समय भारतीय क्रिकेट टीम के एक जाने-माने विकेटकीपर बल्लेबाज है। आने वाले वर्ल्ड कप में ऋषभ पंत ने अपनी दावेदारी काफी मजबूती से रखी है। अब देखना दिलचस्प रहेगा कि अगर उनको 2019 वर्ल्ड कप में जगह मिलती है तो वह कितना उसको भुना पाते हैं। लेकिन वर्ल्ड कप से पहले अभी आईपीएल आना है। आईपीएल में उनको अपनी शानदार फॉर्म बरकरार रखनी होगी तभी जाकर उनको भारतीय वर्ल्ड कप टीम में आसानी से जगह मिल पाएगी। लेकिन इसमें कोई दो राय नहीं है कि ऋषभ पंत एक बेहतरीन खिलाड़ी बन कर उभरेंगे और भारतीय क्रिकेट टीम को नई ऊंचाइयों तक ले जाएंगे।