tips & tricks

कंपनी रजिस्ट्रेशन कैसे करे | How to Register a company in India?

How to Register a company in India? : क्या आप भारत में अपना नया बिज़नेस शुरू करना चाहते है ?
तो ये आर्टिकल आपके लिए बहुत Beneficial होगा पूरी जानकारी के लिए आर्टिकल को अंत तक पढ़िए |

यदि आप भारत में कोई नया बिज़नेस और व्यापार शुरू करने जा रहे है तो सबसे पहले कुछ official procedure पूरे करने होंगे| नई कंपनी को भारतीय offiical records के कुछ नियम कानून पूरे करने होते है | MCA (Ministry of Corporate Affairs) ने कुछ साल पहले Company registration की प्रक्रिया को online कर दिया है |

अब किसी व्यक्ति को corporate office में registration के लिए जाने की जरूरत नहीं है| अब आप घर बैठे registration के लिए apply कर सकते है | हम इस लेख के जरिये आपको अपनी company के लिए legal licence लेने की पूरी प्रक्रिया बतायेंगे | Registration कराने के लिए कुछ जरूरी नियम और कुछ registration जैसे Digital Signature Certificate (DSC). Director Identity Number (DIN) और e -form भी भरना होता है!

Registration कराने से पहले हमे company के प्रकार पता होने चाहिए जो की इस तरह है:

1. One Person Company (OPC):-

यह OPC 2013 में introduced की गयी थी, यदि owner औऱ Prmoter एक ही है तो यह एक अच्छा option है | यह sole -propriter को संभालने के लिए और उसका काम और Corporate framework का भाग बनने में मदद करती है |

2. Limited Liability Partnership (LLP ) :-

एक अलग क़ानूनी संस्था, एक LLP में partner की liabilities केवल उनके agreed contribution जितनी ही होती है| यह इसका सबसे बड़ा फायदा है |

3. Private Limited Company (PLC) :-

एक कंपनी की क़ानूनी नज़रिये से उसके निर्माता से उसकी पहचान अलग होती है | यह shareholder और directors रखती है | सभी Individual जो इसमें काम करते है इसके employee होते है|

4. Public Limited company :-

यह एक voluntary association होता है | इसके members जो की company law में incorporated है | इसके एक अलग क़ानूनी अस्तित्व होता है और इसमें सभी members की libility केवल उनके share जितनी ही होती है |

उपरोक्त सभी company के प्रकार में आप अपने अनुसार कोई भी business structures चुन सकते है और जो आपकी सभी business की ज़रूरतों के अनुसार हो आप उसका registration करा सकते है |

Company Registration कैसे करे :-

Company Registration की process कुछ steps द्वारा समझाई गयी है जो इस प्रकार है | यह हम आपको बताएँगे की आपको क्या क्या accuire करने की जरूरत पड़ेगी |

1. एक Digital Signature Certificate ( DSC )
2. एक Director Identification Number ( DIN )
3. MCA portal पर registration करना या फिर new user के रूप में registration करना
4. इसके साथ ही Incorporation Certificate की भी जरूरत पड़ेगी |

Company Registration की पूरी जानकारी हम LLP Registration के उदाहरण लेकर जानेगे

Limited Liability Partnership बीते कुछ सालों में बहुत चलन में है | Limited Liability Partnership Act , 2008 के ज़रिये इसको भारत में Introduced किया गया | यह एक तरह की business संस्था ही होती है जिसको maintain करना बहुत आसान होता है और owner की liabilities भी limited होती है | इसका मुख्य मकसद ये है की यह Traditional Partnership Firm को खत्म करती है जिसमे सारी responsibilities केवल एक owner पर होती थी | LLP में सभी owners कोई भी misconduct और negligence के लिए बराबर के responsible होते है |

LLP registration भारत में सबसे आसान बिज़नेस फॉर्म है जिसको आसानी से Incorporate और manage किया जा सकता है | Professionals , सूक्ष्म और छोटे व्यापारी आदि की पहली पसंद होती है | लेकिन LLP Equity shares issue नहीं कर सकती | LLP registration में औसतन 15 -20 working days लग जाते है, इसमें goverment की processing का समय, documents submit krana आदि शामिल होता है | LLP Registration से related कुछ steps इस प्रकार है |

1. सबसे पहले LLP का नाम रिज़र्व करना होता है | LLP का नाम उपलब्ध है या नहीं ये निश्चित करने के लिए Applicant e -form 1 भरता है और नाम register कराता है| एक बार Ministry जब नाम Approve कर देती है तो यह 90 दिन के लिए applicant के लिए reserve हो जाता है | अगर इस समय अवधि में LLP Registration नहीं होता है तो Reservation वापिस ले ली जाती है और किसी दूसरे Applicant को avalible करा सकते है|

2. LLP Registration के लिए applicant को e -form 2 भरना होता है जिसमे LLP का मुख्य purpose की जानकारी के साथ, partners और Designated Partners की भी सारी जानकारी देनी होती है |

3. Partners और Designated Partners की सहमति इस LLP में और उनकी responsibility का agrrement करना होता है |

4. LLP agreement को 30 दिन के अंदर रजिस्ट्रार तक देना होता है LLP Registration / Incorporation के लिए | Applicant e -form 3 में, section 23, LLP act 2008 के अनुसार LLP agreement जरूरी है LLP registration के लिए |

एक बार LLP agreement approve होने पर, LLP Registration की process पूरी हो जाती है और LLP के owners अपना बिज़नेस शुरू कर सकते है |

जिन व्यवसाय की आय 20 लाख से अधिक है और 10 लाख रुपए ( उत्तर – पूर्वी राज्यों ) के लिए उनको GST Registration करने की आवश्यकता होती है | GST एक तरह का Direct tax होता है| व्यवसाय जिन राज्यों में Registered होते है वहाँ से उनको GST Identification Number लेने की आवश्यकता होती है | GST Registration की प्रक्रिया व्यावसायिक व्यक्ति online भी कर सकता है | इसके लिए www.gst.gov.in पर login करो | जब वेब पेज open हो तब menu पर click करो | आपको 3 options दिखाई देंगे Registration, Payment और services | आप GST Registration के लिए registration पर क्लिक करो और process चालू रखो और अपनी सारी जानकारी भर दो | इससे आप अपना GST Registration कर सकते है |

आशा है की उपरोक्त बताई गयी सारी जानकारी Company Registration और GST Registration में आपको सहायता करेगी | GST Registration आज के समय में भारत में भर जरूरी है यह सभी business में अनिवार्य कर दिया गया है |

start your Business

कंपनी रजिस्ट्रेशन कैसे करे | How to Register a company in India ?