essay

इंटरनेट के फायदे और नुकसान Advantages and Disadvantages of Internet in Hindi

इंटरनेट के फायदे और नुकसान Advantages and Disadvantages of Internet in Hindi : इंटरनेट (Internet) इस शब्द को आप दिन भर में कई बार सुनाते होंगे. आज के वक्त में इंटरनेट (internet) शब्द टैकनोलजी (Technology) की दुनिया का सबसे प्रसिद (popular) शब्द है. इसके बिना आज के वक्त में आधुनिक युग को सोचा भी नहीं जा सकता है. यह दुनिया में बहुत तेजी से फैला रहा है और दुनिया को एक दूसरे से जोड़ रहा है. आज के वक्त में इस के बिना लोगों अपनी जिन्दगी के बारे में सोच भी नहीं सकते हैं.

इसलिए यह लोगों की जिन्दगी में जररूत बनता जा रहा है. आज हम बात करेंगे और जानेंगे आखिरी इंटरनेट (Internet) की शुरूआत कैसी हुई और ये कैसे काम करता है. साथ ही यह कितना उपयोगी यानि जरूरी (Important) है हमारे लिए.

जानिए इन्टरनेट के इतिहास के बारे में

What is Internet? The history of internet in hindi

अगर हम इंटरनेट (Internet) की शुरुआत की बात करें तो इस की शुरूआत 60 के दशकों में लगभग वर्ष 1962 से 1969 के बीच में हुई थी. इसको सबसे पहले अमेरिकी रक्षा विभाग (US department of defense) ने बनाया था, दुनिया के सबसे पहले इन्टरनेट का नाम ARPANET (Advance Research Project Agency Network) था.

इसका इस्तेमाल सबसे पहले वर्ष 1969 में कैलिफोर्निया विश्वविद्यालय (University of California) में एक सन्देश भेजने के लिए किया गया था. इसके बाद यह लगभग वर्ष 1972 तक दुनिया के अलग-अलग हिस्से में पहुंच चुका था और फिर इस का नाम बदल कर इंटरनेट (Internet) कर दिया गया.

इंटरनेट (Internet) क्या होता है और कैसे काम करता है

जब दो या दो से अधिक कंप्यूटर (Computers) सूचनाओं का आदान प्रदान करने के लिए एक दूसरें से जुड़ते हैं तो एक जाल बनता है उसी ही जाल को ‘इंटरनेट’ का नाम दिया गया है. हम अपने कंप्यूटर्स में सूचनाओं या दस्ताबेजो का आदान प्रदान करते हैं, तो वो इंटरनेट (Internet) की मदद से संभव हो पाता है.

जब कंप्यूटर (Computer) को एक दूसरे से एक माध्यम के तहत कनेक्ट (Connect) किया जाता है जिन्हें हम टीसीपी / आईपी प्रोटोकॉल (TCP/IP protocols) यानी Transmission Control Protocol या Internet Protocol कहते है. वहीं अगर दूसरें शब्दों में कहें तो कंप्यूटर्स को आपस में जोड़ने के लिए कुछ नियमों (Rules) का पालन करना होता है. इन नियमों को टीसीपी / आईपी प्रोटोकॉल (TCP/IP protocols) कहते है.

अगर हम दूसरें शब्दों में कहे तो इंटरनेट (Internet) कंप्यूटर्स को आपस में जोड़ने का एक साधन है. जिसका उद्देश्य सूचनाओं के आदान प्रदान को सरल बनाता है. इसके जरिये किसी भी तरह की सूचना जैसे दस्तावेज़ (Documents ) , फोटो (Photos) , वीडियों (Video) , गाने (Music) और भी कई तरह की सूचनाएं भेजी जा सकती हैं. हम कंप्यूटर में उपलब्ध एक सॉफ्टवेयर वेबब्राउज़र (Software Brower) के द्वारा इस जानकारी को खोल पाते हैं.

जानिए IP Address क्या होता है?

अगर आप इंटरनेट का इस्तेमाल करते हैं तो आप ने कभी न कभी IP address के बारे में सुना ही होगा और शायद आप इस के बारे में नहीं जानते होंगे तो आज हम आप को बताएंगे. IP address के बारे में. IP address का पूरा नाम Internet Protocol Address है.

आईपी प्रोटोकॉल (IP) को ही टीसीपी (TCP) यानी Transmission Control Protocol कहते है. आईपी प्रोटोकॉल के कारण कंप्यूटर (Computer) या नेटवर्किंग डिवाइस इंटरनेट (Internet) से connect हो पाते है.

हर कंप्यूटर का अपना एक यूनिक (unique) IP address होता है. IP address हर डिवाइस (Device) की अपनी एक पहचान होती है. जिससे उस डिवाइस की जगह (Location) और नेटवर्क (Network) के बारे में पता चलता है.

आइए जानें इंटरनेट (Internet) का क्या उपयोग है?

इंटरनेट (Internet) की मदद से हम किसी भी तरह की जानकारी पा सकते हैं, इंटरनेट से सूचनाओं हम किसी को भेज सकते है, यानि हम आसनी से किसी भी बात चीत कर सकते हैं, बात चीत करने के लिए आज के वक्त में कई तरह के सोशल मीडिया मौजूद हैं जैसे Facebook, WhatsApp, Hike, Twiiter.

इंटरनेट की मदद से हम सोशल मीडिया पर कई नए दोस्त बना सकते हैं फिर वह हमारे देश के हों या फिर किसी और देश के.

इंटरनेट (Internet) से किसी भी फाइल को तुरंत ट्रान्सफर किया जा सकता है.

हम इंटरनेट (Internet) पर पढाई भी कर सकते हैं.

साथ ही हम किसी भी देश भी खबरें आसनी से पढ़ सकते हैं.

आइए अब जानिए इंटरनेट (Internet) के क्या फायदे हैं?

इंटरनेट काफी अलग-अगल काम करने के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है, लेकिन अब जानेंगे इंटरनेट के फायदे हैं.

  1. इंटरनेट (Internet) से हम किसी भी तरह की जानकारी केवल एक क्लिक करने पर पता कर सकते हैं.
  2. इंटरनेट की मदद से हम घर बैठे कोई भी सामान आसनी से खरीद सकते है.
  3. हम इंटरनेट से कई अलग-अलग चीजें के बारे में जान सकते हैं वो कहीं जाए.
  4. इंटरनेट पर हम मनोरंजन के लिए गेम (Games) भी खेल सकते है.
  5. अगर हमें कहीं भी जाना है तो हमें अब लंबी-लंबी लाइन में लगने की जररूत नहीं, इंटरनेट की मदद से बड़ी आसनी से कोई भी, कहीं की भी टिकट आसनी से बुक कर सकते हैं.

आइए जानिए इंटरनेट के क्या नुकसान है?

यह बात तो आप भी जानते हैं कि अगर किसी चीज के फायदे होते हैं तो नुकसान भी जरूर होते हैं, तो चलिए अब बात करते हैं इंटरनेट के नुकसान के बारे में,

  1. कंप्यूटर (Computer) में वायरस (Virus) के जारिए कोई आप के कंप्यूटर से डेटा चोरी हो सकता है.
  2. आप यह बात जानते हैं कि इंटरनेट (Internet) की मदद से आप कुछ शेयर कर सकते हैं लेकिन आप के द्वारा शेयर की गई जानकारी का गलत फायदा उठा सकता है.
  3. आज के वक्त झूठी खबरें (Fake News) बहुत तेजी से फैलती हैं और इस का जिम्मेदार कोई और नहीं इंटरनेट ही हैं.
  4. वहीं अगर एक आप को इंटरनेट की लत लग गई तो आप के लिए इस छुड़ना बहुत मुश्किल हो जाएगा.
  5. वैसे तो इंटरनेट की मदद से काम आसनी से और जल्दी हो जाता है लेकिन इस की लत हमारे समय को बर्बाद भी करती है.