biography

अभिनंदन वर्धमान (विंग कमांडर) का जीवन परिचय – Abhinandan varthaman biography hindi

Abhinandan varthaman biography hindi: नमस्कार दोस्तों आजकल हर भारतीय के मन में अपने देश के प्रति एक ऐसी जागरूकता बढ़ गई है कि सब चाहते हैं कि हमारे देश को विकास की तरफ ले जाया जाए और देश से देशद्रोहियों का और इस विश्व से आतंकवाद का खात्मा किया जाए. अभी हाल ही में हुए पुलवामा अटैक में हमारे 42 सैनिक शहीद हो गए. जिसके बाद बच्चे बच्चे की जुबान पर एक ही बात थी कि हमारे सैनिकों की शहादत बेकार नहीं जानी चाहिए और इसका बदला होना चाहिए. 14 फरवरी को हुए आतंकवादी हमले के बाद 23 फरवरी को भारतीय वायु सेना ने पाकिस्तान के 300 आतंकवादियों को ढेर कर दिया. 21 मिनट में हुए हमले में हमारी भारतीय वायु सेना ने पाकिस्तान में घुसकर उन 300 आतंकवादियों का विनाश किया जो सिर्फ हमारे देश के लिए ही नहीं बल्कि पूरे संसार के लिए एक खतरा थे.

इसके बाद पाकिस्तानी सेना ने अपने लड़ाकू विमान को भारत में भेजा जिसका सामना हमारे वायु सेना के वीर ने डटकर किया और हमारे भारत को कोई भी नुकसान होने से भी बचाया. उस वीर का नाम है विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान. विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान हमारी भारतीय वायु सेना के एक जांबाज सिपाही हैं जिन्होंने पाकिस्तान के आतंकवादियों को ढेर किया बल्कि उस देश में रहते हुए भी हमारे देश के सम्मान को बरकरार रखा. आइए जानते हैं विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान की जीवन शैली के बारे में.

विंग कमांडर अभिनंदन वर्तमान का जन्म 21 जून सन 1983 में तमिलनाडु में हुआ. वह राष्ट्रीय रक्षा अकैडमी से स्नातक पास है. तमिलनाडु के फिर ऊपर नाम और गांव में पैदा हुए विंग कमांडर अभिनंदन के माता-पिता चेन्नई में रहते हैं. उनके वायु सेना में आने की बात की जाए तो सन 2004 में अभिनंदन जी को एक लड़ाकू पायलट के लिए भारतीय वायु सेना में चुना गया था. इतना ही नहीं अपनी 15 साल के कार्यकाल में अभिनंदन वर्धमान को दो बार पदोन्नत भी किया गया है. सबसे पहले उन्होंने एक कुशल सुखोई 30 फाइटर पायलट का खिताब हासिल किया और उसके बाद अपने युद्ध कौशल के कारण उन्हें विंग कमांडर बना दिया गया. विंग कमांडर बनने के बाद अभिनंदन वर्धमान को मिग 21 दिया गया.

अभिनंदन के पिता भी एक जाने-माने पायलट एयर मार्शल थे जिनका नाम सिम्हकुट्टी वर्धमान है. अभिनंदन वर्धमान के पिता पूर्वी वायु कमान के पद से सेवानिवृत्त हुए. इतना ही नहीं अभिनंदन की पत्नी भी भारतीय वायु सेना में कोडन लीडर रही हैं. इन दोनों के दो बच्चे भी हैं. देखा जाए तो अभिनंदन वर्धमान एक बहुत ही बहादुर परिवार से ताल्लुक रखते हैं.

पुलवामा हमला (Pulwama Attack)

24 फरवरी को जम्मू कश्मीर में सीआरपीएफ के काफिले पर एक फिदायीन हमला हुआ जिसमें भारत के 40 सैनिक शहीद हो गए. इस घटना की जिम्मेदारी आतंकवादी संगठन के कर्ताधर्ता जैसे मोहम्मद ने ली थी. इस घटना के बारे में बात करते हुए हमारे माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा था कि जवानों का बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा इसका जवाब आतंकवादियों को देना पड़ेगा.

पुलवामा हमला (Pulwama Attack)

पाकिस्तान में कैसे रहे विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान

26 फरवरी को भारतीय वायु सेना पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर गई और वहां जाकर उन्होंने आतंकवादियों के शिविर को नष्ट कर दिया. इतना ही नहीं हमारी वायु सेना ने पाकिस्तान के बाला कोर्ट में जो आतंकवादियों ने अपने शिविर बनाए हुए थे उन्हें भी नष्ट कर दिया जिसकी वजह से पाकिस्तान ने अपनी वायु सेना को लड़ाकू विमान F-16 से 27 फरवरी को भारत भेजा.
इस हमले का जवाब देने के लिए कमांडर अभिनंदन वर्धमान उनके सामने आए और अपने मिग 21 अभिमान के साथ उनका डटकर सामना किया. इतना ही नहीं उन्होंने पाकिस्तान के लड़ाकू विमान को भी हरा दिया. इसके बाद जब विदेश मंत्रालय से भारतीय वायु सेना की बात हुई तब पता लगा कि भारतीय वायुसेना के विमान के जवाब में पाकिस्तान के द्वारा भेजा गया F-16 नष्ट हो गया. लेकिन दुर्भाग्यवश उस लड़ाई में भारत का अभिमान भी दुर्घटनाग्रस्त हो गया. इसके साथ-साथ उन्होंने यह भी बताया कि उनका एक पायलट भी गायब हो गया जिसे पाकिस्तान ने अपने कब्जे में होने का दावा किया.

अभिनंदन वर्धमान ने जब अपने पैराशूट को किया उस समय वे पाकिस्तान अधिकृत भूमि कश्मीर में थे. जिस समय अभिनंदन उस धरती पर उतरे तभी वहां के लोगों ने उन पर हमला कर दिया. उन्हें पीटने लगे और फिर पाकिस्तानी आर्मी के जवानों ने उन्हें अपनी हिरासत में ले लिया. इसके बाद अभिनंदन के पाकिस्तान आर्मी के कब्जे में होने का सबूत देने के लिए पाकिस्तान द्वारा एक वीडियो जारी किया गया जिसमें हमने देखा कि अभिनंदन की आंखों पर पट्टी बंधी हुई है और उनका चेहरा खून से लथपथ था. पाकिस्तान आर्मी को अपना परिचय भी दिया. इस वीडियो के आने के बाद पाकिस्तान सरकार ने यह दावा किया कि यह वीडियो जेनेवा संधि का उल्लंघन है. इस बात पर गौर करते हुए पाकिस्तान ने एक और वीडियो जारी किया जिसमें अभिनंदन चाय पी रहे थे और पाकिस्तान के कुछ अधिकारी उनके साथ सामान्य वार्तालाप कर रहे थे.

किया गया अभिनंदन वर्धमान को रिहा

जब पाकिस्तान पर अंतरराष्ट्रीय दबाव और भारतीय सरकार का दबाव पड़ा तो पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने संसद में कहा कि 1 मार्च को हम भारतीय जवान को रिहा कर देंगे. जिसके बाद 1 मार्च रात 9:21 पर पाकिस्तान सेना ने अभिनंदन वर्धमान को भारतीय सेना को सौंप दिया. अभिनंदन को भारत अटारी बाघा बॉर्डर के जरिए पहुंचाया गया. जिसके बाद पाकिस्तान मीडिया ने एक और वीडियो चलाया जिसमें उन्होंने दिखाया की अभिनंदन हिंदुस्तानी मीडिया की बुराई कर रहे हैं और पाकिस्तानी सेना की तारीफ कर रहे हैं. शोध से यह पता चला कि उस वीडियो में कुल 50 कट थे. लेकिन खुशी की बात यह थी कि हमारे जवान हमारे वीर अभिनंदन वर्धमान हमारे देश में वापस आ गए और उन्होंने हमारी सेना का नाम रोशन किया.
तो यह जानकारी विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान के बारे में. हम आशा करते हैं कि आपको हमारी दी गई जानकारी से संतुष्टि प्राप्त हुई हो. यदि आप अपने विचार हमारे साथ व्यक्त करना चाहते हैं तो नीचे दिए गए कमेंट बॉक्स में अपनी बात जरूर लिखें. इस प्रकार के और आर्टिकल पढ़ने के लिए हमारे वेब पोर्टल पर दिए गए लिंक को क्लिक करें.